शैलदेवी महाविद्यालय

History

शैलदेवी महाविद्यालय की स्थापना १३ जुलाई २०११ को छत्तीसगढ़ अशासकीय महाविद्यालय और संस्था (स्थापना और विनिमय), अधिनियम २००६ के प्रावधानों के तहत की गई हैं | यह महाविद्यालय, शैलदेवी एजुकेशनल सोसाइटी भिलाई जो छत्तीसगढ़ सोसाइटी रजिस्ट्रेशन एक्ट १९७३ के अंतर्गत पंजीकृत संस्था हैं, के द्वारा संचालित हैं | महाविद्यालय में अध्यापन कार्य 17 जुलाई २०१२ से प्रारम्भ की गई हैं |

अंडा उपतहसील का यह पहला महाविद्यालय दुर्ग-बालोद मुख्य राजमार्ग पर अंडा ग्राम में स्थित हैं | जो शहर के कोलाहल से दूर शांत वातावरण एवं रमणीय स्थल के मध्य ८ एकड़ में फैली है | महाविद्यालय परिसर में लगभग एक एकड़ फलदार वृक्षों का एक उपवन भी हैं, जो महाविद्यालय के प्राकृतिक सौन्दर्य और आत्मबल में मजबूती प्रदान करती हैं |

महाविद्यालय में स्नातक स्तर पर बी.एड पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं | ये पाठ्यक्रम पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय, रायपुर से सम्बद्ध हैं | महाविद्यालय में प्रारम्भिक शिक्षा का डिप्लोमा (डिप्लोमा इनएलिमेंटरी एजुकेशन) डी.एल.एड, पाठ्यक्रम भी संचालित हैं, जो कि छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर से संबंद्ध हैं | महाविद्यालय में प्रयुक्त शिक्षण की भाषा हिन्दी व अंग्रेजी है |

छात्राओं के प्रत्येक वर्ग में स्थान उपलब्ध हैं | महाविद्यालय परिसर में सर्वसुविधायुक्त महिला छात्रावास व परिसर के बाहर पुरुष छात्रावास भी है |